बटुकेश्वर दत्त की जीवनी | Batukeshwar Dutt Biography in Hindi

2
51
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

बटुकेश्वर दत्त की जीवनी | Batukeshwar Dutt Biography in Hindi

बटुकेश्वर दत्त की जीवनी | Batukeshwar Dutt Biography in Hindi
बटुकेश्वर दत्त सन 1900 के एक भारतीय क्रांतिकारी और स्वतंत्रता सेनानी थे। वे विशेषतः अपने साथी भगत सिंह के साथ

Batukeshwar Dutt – बटुकेश्वर दत्त सन 1900 के एक भारतीय क्रांतिकारी और स्वतंत्रता सेनानी थे। वे विशेषतः अपने साथी भगत सिंह के साथ सेंट्रल असेंबली, नयी दिल्ली में 8 अप्रैल 1929 को बम विस्फोट करने के लिए प्रसिद्ध है। उन्हें गिरफ्तार करने के बाद उन्हें आजीवन कैद रखने की कोशिश की जा रही थी। लेकिन जेल में रहते हुए भी उन्होंने कैदियों के हक़ में बहुत से आंदोलन किये जिनका फायदा सभी कैदियों को हुआ था। इसके साथ ही वे हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन के भी सदस्य थे।

बटुकेश्वर दत्त की जीवनी – Batukeshwar Dutt Biography in Hindi

Born: 18 November 1910, India
Died: 20 July 1965, New Delhi
Nationality: Indian
Movies: Shaheed
Children: Bharti Bagchi
Awards: National Film Award for Best Story

Batukeshwar Dutt जीवनी –

बटुकेश्वर दत्त जो साधारणतः बी.के. दत्त, बट्टू और मोहन के नाम से भी जाने जाते थे, वे गोष्ठ बिहारी दत्त के बेटे थे। उनका जन्म पश्चिम बंगाल के बुर्द्वान जिले के ओअरी गाँव में 18 नवम्बर 1910 को हुआ था। कवनपोर के पी.पी.एन. हाई स्कूल से वे ग्रेजुएट हुए। स्वतंत्रता सेनानी जैसे चंद्रशेखर आज़ाद और भगत सिंह के वे करीबी थे, और बाद में 1924 में वे उनसे मिले भी थे। हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन के साथ काम करते समय ही उन्होंने बम बनाना सिख लिया था।

Batukeshwar Dutt अंतिम दिन –

जेल से रिहा होने के बाद दत्त को ट्यूबरक्लोसिस हो गया था। लेकिन फिर भी उन्होंने महात्मा गांधी के भारत छोडो अभियान में भाग लिया और फिर से चार साल के लिए जेल गये। मोतिहारी जेल (बिहार के चंपारण जिले में) में उन्हें रखा गया था। भारत को आज़ादी मिलने के बाद, नवम्बर 1947 को उन्होंने अंजलि से शादी कर ली थी। लेकिन आज़ाद भारत ने उन्हें कोई पहचान नही दिलवाई और उन्होंने अपना पूरा जीवन इसके बाद गरीबी बोझ तले बिताया। और कुछ समय तक लंबी बीमारी से जूझे रहने के बाद अंततः 20 जुलाई 1965 को दिल्ली के AIIMS हॉस्पिटल में उनकी मृत्यु हो गयी थी। पंजाब में फिरोजपुर के पास हुसैनीवाला बाग़ में उनका अंतिम संस्कार किया गया, जहाँ उनके साथी भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेवका भी अंतिम संस्कार उनकी मृत्यु के कुछ वर्षो पहले किया गया था।

Batukeshwar Dutt पहचान और उपलब्धियाँ –

सफ़दरजंग एअरपोर्ट के पास नयी दिल्ली की एक प्रसिद्ध कॉलोनी को उनके नाम पर बी.के, दत्त कॉलोनी रखा गया था। यह कॉलोनी NDMC एरिया में AIIMS की सबसे करीबी आवासीय कॉलोनी है।

 

tags -Batukeshwar Dutt,batukeshwar dutt in hindi,batukeshwar dutt daughter,batukeshwar dutt history in hindi,batukeshwar dutt images,batukeshwar dutt: bhagat singh ke sahyogi,bharti bagchi,batukeshwar temple,batukeshwar dutt rang de basanti

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here