तानसेन Sangeet Samrat Tansen biography in hindi

तानसेन जीवन परिचय
तानसेन Sangeet Samrat Tansen

पूरा नाम  –  तानसेन (original name of Tansen – Ramtanu Pandey ji )
जन्म  –  1506
जन्मस्थान  –  ग्वालियर
पिता – मुकुंद


तानसेन ब्राम्हण परिवार में जन्मे थे, किन्तु बाद में संभवतः उन्होंने इस्लाम धर्म अंगीकार कर लिया था. 5 वर्ष की आयु तक तानसेन ‘स्वर विहीन’ थे. महान संगीताचार्य गुरु हरिदास ने उन्हें अपना शिष्य बनाया और उनको संगीत की दिक्षा दी. उनकी प्रतिभा जाग उठी और शीघ्र ही अतुलनीय गायक के रूप में उनकी ख्याति फ़ैल गयी.

* कला के पारखी अकबर ने उन्हें अपने नवरत्नों में स्थान देकर सम्मानित किया था.
उन्होंने अपनी अप्रतिम गायकी से सभी को मुक्त कर दिया था, अकबर के दरबार में रहकर वो नए – नए राग बनाने का भी प्रयत्न करने लगे. तानसेन की सूरदास से भी मित्रता थी और वो अक्सर उनके भजन गाया करते थे.

कहा जाता है की वो आगरा में एक संगीत प्रतिस्पर्धा में बैजू बावरा से पराजित हो गये थे, इस पराजय ने तानसेन को कृष्ण भक्त बना दिया.

तानसेन गायक ही नहीं कवी भी थे और उन्होंने अनेक ‘पद’ भी रचे थे, उनकी ही प्रेरणा से अकबर सूरदास, मीरा एवं हरिदास के दर्शन करने गये थे.


1589 में उनका मृत्यु हुआ उसके बाद उन्हें जन्मभूमि बेहात(ग्वालियर के पास) पर दफनाया गया. यही उनकी स्मृति में प्रत्येक वर्ष दिसंबर में ‘तानसेन संगीत सम्मलेन’ आयोजित किया जाता है.

उनके द्वारा निर्मित राग सदा उनकी बहुमुखी प्रतिभा के गौरवमय इतिहास का स्मरण कराते रहेंगे. भारतीय संगीत के अखिल भारतीय गायकों की श्रेणी में संगीत सम्राट तानसेन का नाम सदैव अमर रहेंगा.

मृत्यु –   1589 में.

Note:-  आपके पास About Tansen in Hindi मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इस अपडेट करते रहेंगे. धन्यवाद….

अगर आपको Life History Of Tansen in Hindi Language अच्छी लगे तो जरुर हमेंWhatsApp Status और Facebook  पर Shareकीजिये. SHARE IS CARE.

Note:- E-MAIL Subscription करे और पायें Essay With Short Biography About Sangeet Samrat Tansen in Hindi and More New Article… आपके ईमेल पर.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here