Abhisek Bachhan Biography In Hindi,अभिषेक बच्चन की जीवनी

 

Abhisek Bachhan Biography In Hindi,अभिषेक बच्चन की जीवनी

Abhisek-Bachhan-Biography-Hindi
Abhisek Bachhan Biography In Hindi,अभिषेक बच्चन की जीवनी

जन्मदिन- 5 जनवरी,1976

जन्मस्थान- मुंबई

कद- 6 फुट 3 इंच

पहले रिफ्यूजी फिर ब्लफमास्टर और गुरू बनकर Abhisek Bachhan ने दर्शकों पर तो अपना जादू चलाया ही साथ ही, ऐश्वर्या राय को भी प्रेम के ढाई अक्षर पढ़ाकर अपनी जीवन संगिनी बना लिया। पिता अमिताभ बच्चन, मां जया बच्चन और पत्‍‌नी ऐश्वर्या राय के चहेते Abhisek Bachhan की व्यक्तिगत जिंदगी के साथ-साथ उनका फिल्मी करियर भी अच्छा चल रहा है। पिछले नवंबर में वह पिता भी बने हैं और उनकी बेटी का नाम आराध्या बच्चन है।

रिफ्यूजी के साथ Abhisek Bachhan ने जब फिल्मों में प्रवेश किया तो उनपर अपने पिता अमिताभ बच्चन की छाप स्पष्टत: दिख रही थी। अमिताभ बच्चन की ही तरह व्यक्तित्व और दमदार आवाज उन्हें विरासत में मिली है, जिसने अभिषेक की अभिनय कला को उनके कैरियर के शुरुआती लम्हों में प्रभावित किया। Abhisek Bachhan की कई प्रारंभिक फिल्में बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह असफल रहीं, फिर भी उन्हें फिल्में मिलती रहीं। उन्हें लंबी रेस का घोड़ा कहा गया।

आखिर, मणिरत्‍‌नम की युवा में ललन के दमदार किरदार से Abhisek Bachhan ने उम्दा अभिनय प्रतिभा का परिचय दिया। हालांकि युवा बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास नहीं कर पायी, पर Abhisek Bachhan अपनी अलग पहचान बनाने में जरूर सफल रहें। सरकार और बंटी और बबली में उन्होंने खूब धूम मचायी और ब्लफमास्टर में राइट हियर, राइट नाऊ गाकर युवाओं के दिल की धड़कन बन गयें। Abhisek Bachhan की कूल इमेज और डांसिग स्टाइल ने भी दर्शकों पर खूब जादू चलाया। पिछले दिनों Abhisek Bachhan की शाही शादी के साथ-साथ गुरू में उनका शानदार अभिनय भी चर्चा में रहा। वैवाहिक जीवन के खुबसूरत पलों के साथ-साथ Abhisek Bachhan इन दिनों कुछ बड़ी और अच्छी फिल्मों में व्यस्त हैं ।

Abhisek Bachhan करियर की मुख्य फिल्में

वर्ष फिल्म चरित्र

2000- रिफ्यूजी- रिफ्यूजी

2000- तेरा जादू चल गया- कबीर श्रीवास्तव

2000- ढाई अक्षर प्रेम के- करन खन्ना

2001- बस इतना सा ख्वाब है- सूरजचंद श्रीवास्तव

2002- हां, मैंने भी प्यार किया है- शिव कपूर

2002- ओम जय जगदीश- जगदीश बत्रा

2002- शरारत- राहुल खन्ना

2003- मैं प्रेम की दीवानी हूं- प्रेम कुमार

2003- मुंबई से आया मेरा दोस्त- कांजी

2003- कुछ ना कहो- राज

2003- एल ओ सी कारगिल- लेफ्टिनेंट विक्रम बत्रा

2004- रन- सिद्धार्थ

2004- युवा- ललन

2004- हम-तुम- समीर

2004- फिर मिलेंगे- तरुण आनंद

2004- धूम- जय दीक्षित

2004- नाच- अभिनव

2005- बंटी और बबली- राकेश त्रिवेदी

2005- सरकार- शंकर नागरे

2005- दस- शशांक धीर

2005- ब्लफ मास्टर- रॉय

2006- कभी अलविदा ना कहना- ऋषि तलवार

2006- उमराव जान- नवाब सुल्तान

2006- धूम 2- जय दीक्षित

2007- गुरू- गुरूकांत देसाई

2007- झूम बराबर झूम- रिक्की ठुकराल

2008- सरकार राज, मिशन इस्तेनाबुल, द्रोणा, दोस्ताना

2009 – लक बाई चांस, दिल्ली 6, पा

2010- रावण, झूठा ही सही, खेलें हम जी जान से

2011- गेम, दम मारो दम

2012- प्लेयर्स, बोल बच्चन

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here