Hindi Deshbhakti Poem Hindu bn ya muslman bn Pr phle tu insan bn

0
64

 

Patriotic hindi Poem | DeshBhakti Ki Mhan Kavitaae

मर रही है इंसानियत,दुनियां लगी है सोने मे गुजर रही ज़िन्दगी,यूं ही रोने धोने में… | Best kavita in hindi | Insaniyat poem in hindi | Hindu muslim poem in hindi hindi Poem

 

Patriotic hindi Poem in Hindi Language

Patriotic Poems in Hindi Language : hindi Poem देशभक्ति की महान कविताएँ  – हम यहाँ पर लेकर आये हैं देशभक्ति की महान कविताएँ! इस कविता के संग्रह को संगठित करने का ये कारण हैं क्युकी हम हर दिन कुछ न कुछ ऐसा खोजते हैं जो हमारी मतलब की चीज़ होती हैं लेकिन बहुत कम ही ऐसे मौके आते हैं जब हम अपनी मतलबी दुनिया से बाहर निकल कर अपने देश के बारे में सोचते हैं और उन वीर सैनिको के बारे में भी जो की सिर्फ और सिर्फ हमारी रक्षा के लिए ही उन सरहदों पर खड़े पहरा दे रहे हैं जहाँ पर कभी कभी इतनी ठण्ड पड़ती हैं की आपकी हड्डी तक जमा दे और कभी कभी इतनी गर्मी जो आपकी हड्डी भी पिघला दे.

Best kavita in hindi | Insaniyat poem in hindi | Hindu muslim poem in hindi
मर रही है इंसानियत,दुनियां लगी है सोने मे गुजर रही ज़िन्दगी,यूं ही रोने धोने में… | Best kavita in hindi | Insaniyat poem in hindi | Hindu muslim poem in hindi

Hindi Deshbhakti Poem Hindu bn ya muslman bn . Pr phke tu insan bn

‎ हिन्दू बन या मुसलमान बन पहले तू इन्सान

बन ‎मर रही है इंसानियत दुनिया लगी हे सोने मै

‎गुजर रही है जिंदगी युही रोने धोने मै।

‎तू भी किसी को मानता होगा यु न नादान बन ‎

हिन्दू बन या मुसलमान बन पहले तू इन्सान बन।।

‎सिसक रही है माये बैठ कर किसि कोने में

‎फुर्सत हो तोह पूछना क्या दर्द है किसी को खोने मै

‎तू भी किसी का बेटा होगा ऐसा न नादान बन

‎ हिन्दू बन या मुसलमान बन पहले तू इन्सान बन।। ‎

हिन्दू बन या मुसलमान बन पहले तू इन्सान बन ‎ ‎

 

hindi-deshbhakti-poem,desh bhakti poem in hindi for class 3,hindi poem on desh bhakti by rabindranath tagore,desh bhakti kavita ramdhari singh dinkar,desh bhakti poem in english,poem on army soldiers in hindi,desh bhakti kavita in hindi mp3,desh bhakti par aadharit kavita hindi mein,desh bhakti par kavita in hindi for class 4,desh bhakti par aadharit kavita hindi mein,desh bhakti ki kavita hindi mai,desh bhakti poem in hindi for class 3,desh bhakti kavita ramdhari singh dinkar,hindi poem on desh bhakti by rabindranath tagore,desh bhakti poem in english,desh bhakti kavita in hindi mp3,poem on desh bhakti in marathi,desh bhakti par aadharit koi kavita,poem on army soldiers in hindi,poems about soldiers by famous poets in hindi,poem on indian army soldiers,poem on sainik in hindi,poem on soldiers sacrifice in hindi,hindi poem on veer jawan,patriotic poems by famous poets in hindi,poem on veer sainik in hindi

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here