Home / Biography / मनमोहन सिंह की जीवनी | Manmohan Singh Biography In Hindi

मनमोहन सिंह की जीवनी | Manmohan Singh Biography In Hindi

मनमोहन सिंह की जीवनी | Manmohan Singh Biography In Hindi

Born: 26 September 1932 (age 84 years), Gah, Pakistan
Height: 1.75 m
Spouse: Gursharan Kaur (m. 1958)
Education: St John’s College, Cambridge (1956–1957
Previous offices: Minister of Finance of India (2012–2012), 
Awards: CNN-IBN Indian of the Year in Politics, CNN-IBN Indian of the Year

Manmohan Singh – मनमोहन सिंह भारत के 14वे प्रधानमंत्री बने. मनमोहन सिंह महान विचारो वाले व्यक्तित्व के धनि . अच्छा दृष्टिकोण रखने वाले परिश्रमी व् शैक्षणिक दृष्टिकोण रखने वाले नम्र आचरण वाले व्यक्ति है.

प्रधानमंत्री Manmohan Singh का जन्म 26 सितम्बर 1932 में पंजाब के एक गाव में हुआ. उनकी शिक्षा 1948 में पंजाब यूनिवर्सिटी से हुई. अच्छे नंबरो से पास होने के कारण उन्हें कैंब्रिज यूनिवर्सिटी UK में प्रवेश मिल गया. जहा उन्होंने अर्थशात्र की डिग्री ली (1957).

Manmohan-Singh_3C-621x414 मनमोहन सिंह की जीवनी | Manmohan Singh Biography In Hindi
मनमोहन सिंह की जीवनी | Manmohan Singh Biography In Hindi

मनमोहन सिंह की जीवनी –  Manmohan Singh Biography In Hindi

Manmohan Singh जी ने 1962 में न्यूफील्ड कॉलेज,ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से डी.फिल किया. 1964 में उन्होंने “इंडिया एक्सपोर्ट ट्रेंड एंड प्रॉस्पेक्टस फॉर सेल्फ ससटेंड ग्रोथ” नाम से पुस्तक लिखी जिसे क्लेरेंडॉन प्रेस ने प्रकाशित की. मनमोहनजी पंजाब यूनिवर्सिटी में वर्षो तक शैक्षणिक प्रत्यायक के रूप में चमकते रहे. एक संक्षिप्त कार्यकाल में UNCTAD सचिवालय के रूप में अच्छी तरह से इन वर्षो में दिल्ही स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स में प्रतिष्ठित हुए. 1987 से 1990 के बिच में उन्हें जिनेवा में सेक्रेटरी जेनरल ऑफ़ साउथ कमिशन के पद के लिए नियुक्त किया गया.

1971 में भारत सरकार द्बारा Manmohan Singh  जी को आर्थिक सलाहकर वाणिज्य मंत्रालय के लिए नियुक्त किये गए, इसको देखते हुए 1972 में उन्हें मुख्य सलाहकार, वित्त मंत्रालय में नियुक्त किया. इनकी नियुक्ति बहुत से पदों के लिए हुई जैसे की वित्तमंत्री, उपसभापति, योजन मंत्री, रिजर्व बैंक के गवर्नर के रूप में, प्रधानमंत्री के सलहाकार के रूप में. 1991 से 1996 के बिच पाच वित्त मंत्रीयो ने मिलकर आर्थिक मंदी हटाकर भारत को पुन्ह स्थापीत किया. इन्होने भारत के लिये आर्थिक योजना बनाई जो पुरे विश्व में मान्य है. उन्होंने अपने कार्यालय के दौरान अपने सहयोग से विकट परिस्थितियों से भारत को निकला था.

Manmohan Singh जी को पब्लिक करिअर में कई अवार्ड मिले जिसमे 1981 में पद्म विभूषण, 1985 में जवाहरलाल नेहरु शताब्दी अवार्ड शामिल है. वित्त मंत्री के पद में 3 साल रहने के कारण उन्हें एशिया मनी अवार्ड भी मिला. वर्ष के बेस्ट वित्त मंत्री के लिए यूरो मनी अवार्ड भी मिला. कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में आदम स्मिथ पुरस्कार से सम्मानित हुए, जॉन कॉलेज कैंब्रिज में राइट पुरस्कार मिला. अपने अतुल्य प्रदर्शन के लिए मनमोहनजी को कई संस्थानों द्वारा सम्मानित किया गया जिसमे से जापान के निहोन कीजै शिम्बुन भी शामिल है. Manmohan Singh  ने कई डिग्री हासिल की है जिसमे से ऑक्सफ़ोर्ड और कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से मिली डिग्रीया शामिल है.

Manmohan Singh ने कई अन्तराष्ट्रीय कांफ्रेंस में भारत का प्रतिनिधित्व किया. 1993 में उन्होंने मानव अधिकार के लिए विएना में भारत सरकार का प्रतिनिधित्व किया.

Manmohan Singh अपने राजनितिक करिअर में 1991 में राज्यसभा के सदस्य बने. 1998 से 2004 तक वे विपक्ष नेता रहे. 22 मई 2004 में मनमोहनजी ने प्रधानमंत्री पद ग्रहण किया.

 

पद

Manmohan Singh पहले पंजाब यूनिवर्सिटी और बाद में दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकॉनॉमिक्स में प्रोफेसर के पद पर थे। १९७१ में Manmohan Singh  भारत सरकार की कॉमर्स मिनिस्ट्री में आर्थिक सलाहकार के तौर पर शामिल हुए थे। १९७२ में मनमोहन सिंह वित्त मंत्रालय में चीफ इकॉनॉमिक अडवाइज़र बन गए। अन्य जिन पदों पर वह रहे, वे हैं– वित्त मंत्रालय में सचिव, योजना आयोग के उपाध्यक्ष, भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर, प्रधानमंत्री के सलाहकार और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष। Manmohan Singh 1991 से राज्यसभा के सदस्य हैं। १९९८ से २००४ में वह राज्यसभा में विपक्ष के नेता थे। Manmohan Singh ने प्रथम बार ७२ वर्ष की उम्र में २२ मई २००४ से प्रधानमंत्री का कार्यकाल आरम्भ किया, जो अप्रैल २००९ में सफलता के साथ पूर्ण हुआ। इसके पश्चात् लोकसभा के चुनाव हुए और भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस की अगुवाई वाला संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन पुन: विजयी हुआ और सिंह दोबारा प्रधानमंत्री पद पर आसीन हुए। प्रधानमंत्री Manmohan Singh की दो बार बाईपास सर्जरी हुई है। दूसरी बार फ़रवरी २००९ में विशेषज्ञ शल्य चिकित्सकों की टीम ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में इनकी शल्य-चिकित्सा की। प्रधानमंत्री सिंह ने वित्तमंत्री के रूप में पी. चिदम्बरम को अर्थव्यवस्था का दायित्व सौंपा था, जिसे उन्होंने कुशलता के साथ निभाया। लेकिन २००९ की विश्वव्यापी आर्थिक मंदी का प्रभाव भारत में भी देखने को मिला। परन्तु भारत की बैंकिंग व्यवस्था का आधार मज़बूत होने के कारण उसे उतना नुक़सान नहीं उठाना पड़ा, जितना अमेरिका और अन्य देशों को उठाना पड़ा है। 26 नवम्बर 2008 को देश की आर्थिक राजधानी मुंबई पर पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित आतंकियों ने हमला किया। दिल दहला देने वाले उस हमले ने देश को हिलाकर रख दिया था। तब सिंह ने शिवराज पाटिल को हटाकर पी. चिदम्बरम को गृह मंत्रालय की ज़िम्मेदारी सौंपी और प्रणव मुखर्जी को नया वित्त मंत्री बनाया।

जीवन के महत्वपूर्ण पड़ाव

  • १९५७ से १९६५ – चंडीगढ़ स्थित पंजाब विश्वविद्यालय में अध्यापक
  • १९६९-१९७१ – दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स में अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार के प्रोफ़ेसर
  • १९७६ – दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में मानद प्रोफ़ेसर
  • १९८२ से १९८५ – भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर
  • १९८५ से १९८७ – योजना आयोग के उपाध्यक्ष
  • १९९० से १९९१ – भारतीय प्रधानमन्त्री के आर्थिक सलाहकार
  • १९९१ – नरसिंहराव के नेतृत्व वाली काँग्रेस सरकार में वित्त मन्त्री
  • १९९१ – असम से राज्यसभा के सदस्य
  • १९९५ – दूसरी बार राज्यसभा सदस्य
  • १९९६ – दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स में मानद प्रोफ़ेसर
  • १९९९ – दक्षिण दिल्ली से लोकसभा का चुनाव लड़ा लेकिन हार गये।
  • २००१ – तीसरी बार राज्य सभा सदस्य और सदन में विपक्ष के नेता
  • २००४ – भारत के प्रधानमन्त्री

इसके अतिरिक्त उन्होंने अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष और एशियाई विकास बैंक के लिये भी काफी महत्वपूर्ण काम किया है।

पुरस्कार एवं सम्मान

सन १९८७ में उपरोक्त पद्म विभूषण के अतिरिक्त भारत के सार्वजनिक जीवन में Manmohan Singh को अनेकों पुरस्कार व सम्मान मिल चुके हैं जिनमें प्रमुख हैं: –

  • २००२ – सर्वश्रेष्ठ सांसद
  • १९९५ में इण्डियन साइंस कांग्रेस का जवाहरलाल नेहरू पुरस्कार,
  • १९९३ और १९९४ का एशिया मनी अवार्ड फॉर फाइनेन्स मिनिस्टर ऑफ द ईयर,
  • १९९४ का यूरो मनी अवार्ड फॉर द फाइनेन्स मिनिस्टर आफ़ द ईयर,
  • १९५६ में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय का एडम स्मिथ पुरस्कार

Manmohan Singh ने कई राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय संगठनों में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। अपने राजनैतिक जीवन में वे १९९१ से राज्य सभा के सांसद तो रहे ही, १९९८ तथा २००४ की संसद में विपक्ष के नेता भी रह चुके हैं।

विवाद और घोटाले

२-जी स्पेक्ट्रम घोटाला

टूजी स्पेक्ट्रम घोटाला, जो स्वतन्त्र भारत का सबसे बड़ा वित्तीय घोटाला है उस घोटाले में भारत के नियन्त्रक एवं महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट के अनुसार एक लाख छिहत्तर हजार करोड़ रुपये का घपला हुआ है। इस घोटाले में विपक्ष के भारी दवाव के चलते Manmohan Singh सरकार में संचार मन्त्री ए० राजा को न केवल अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा, अपितु उन्हें जेल भी जाना पडा। केवल इतना ही नहीं, भारतीय उच्चतम न्यायालय ने इस मामले में प्रधानमन्त्री सिंह की चुप्पी पर भी सवाल उठाया। इसके अतिरिक्त टूजी स्पेक्ट्रम आवण्टन को लेकर संचार मन्त्री ए० राजा की नियुक्ति के लिये हुई पैरवी के सम्बन्ध में नीरा राडिया, पत्रकारों, नेताओं और उद्योगपतियों से बातचीत के बाद डॉ॰ सिंह की सरकार भी कटघरे में आ गयी है।

कोयला आबंटन घोटाला

अभी हाल में यह तथ्य प्रकाश में आया है Manmohan Singh के कार्यकाल में देश में कोयला आवंटन के नाम पर करीब 26 लाख करोड़ रुपये की लूट हुई और सारा कुछ प्रधानमंत्री की देखरेख में हुआ क्योंकि यह मंत्रालय उन्हीं के पास है।

इस महाघोटाले का राज है कोयले का कैप्टिव ब्लॉक, जिसमें निजी क्षेत्र को उनकी मर्जी के मुताबिक ब्लॉक आवंटित कर दिया गया। इस कैप्टिव ब्लॉक नीति का फायदा हिंडाल्को, जेपी पावर, जिंदल पावर, जीवीके पावर और एस्सार आदि जैसी कंपनियों ने जोरदार तरीके से उठाया। यह नीति खुद प्रधानमंत्री Manmohan Singh की दिमाग की उपज थी।

 

Information about Dr Manmohan Singh in Hindi – डॉ मनमोहन सिंह के बारे में जानकारी

  1. डॉ० मनमोहन सिंह का जन्‍म 26 सितम्बर 1932 को पंजाब (Punjab) प्रांत केे गाह नामक गॉव में हुआ यह स्‍थान इस समय पाकिस्‍तान में स्थित है
  2. इनके पिता का नाम गुरुमुख सिंह और माता का नाम अमृत कौर था
  3. जिस समय भारत और पाकिस्‍तान का बंटवारा हुआ था उस समय इनका परिवार भारत आ गया था
  4. डॉ० मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय से स्नातक तथा स्नातकोत्तर स्तर की पढ़ाई पूरी की और आगे की पढाई करने के लिए वे कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय गये
  5. डॉ० मनमोहन सिंह कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से पी०एच०डी की डिग्री प्राप्‍त की थी
  6. डॉ० मनमोहन सिंह को सन् 1955 और 1957 में कैंब्रिज के सेंट जॉन्स कॉलेज में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए ‘राइट्स पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया
  7. डॉ मनमो‍हन सिंह का विवाह वर्ष 14 सितंबर 1958 को गुरशरण कौर के साथ हुआ
  8. डॉ मनमो‍हन सिंह की तीन पुत्रीयां हैं
  9. डॉ मनमो‍हन सिंह दो वर्ष तक ‘दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स’ में भी अध्यापन कार्य किया
  10. डॉ मनमोहन सिंह अर्थशास्त्री के रूप में काफ़ी प्रसिद्ध हो चुके थे उन्‍हें अर्थशास्त्र पर व्याख्यान देने के लिए विदेशों में भी बुलाए जाने लगा था
  11. डॉ मनमोहन सिंह ‘रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया’ केे गवर्नर (Reserve Bank of India Governor) पद पर 16 सितंबर 1982 से 14 जनवरी 1985 तक कार्यरत रहे
  12. वर्ष 1985 को राजीव गांधी के शासन काल मेंं इन्‍हें योजना आयोग (Planning Commission) का उपाध्‍यक्ष नियुक्‍त किया गया था जिसका नाम बदलकर 1 जनवरी 2015 को नीति आयोग (Policy Commission) कर दिया गया है इस पद पर इन्‍होंंनेे निरन्‍तर पॉच वर्षों तक कार्य किया था
  13. इसके बाद इन्‍हें वर्ष 1990 में प्रधानमंत्री का आर्थिक सलाहकार बनाया गया
  14. डॉ० मनमोहन सिंह पी. वी. नरसिम्हा राव के शासन काल में 21 जून 1991 से 16 मई 1996 तक वित्‍त मंत्री के पद पर कार्यरत रहे थे
  15. राजनीति में रूचि होने के कारण इन्‍होंंने वर्ष 1991 में असम (Assam) राज्‍य से चुनाव लडा
  16. और इन्‍हें वर्ष 2002 में सर्वश्रेष्ठ सांसद की उपाधि भी प्रदान की गई
  17. डॉ मनमोहन सिंह ने 22 मई, 2004 को भारत का प्रधानमंत्री (prime minister of India) नियुक्‍त किया गया था वे 72 वर्ष की अवस्‍था में प्रधानमंत्री वने थेे
  18. डॉ मनमोहन सिंह काेे भारत सरकार द्वारा वर्ष 1987 को ‘पद्म विभूषण’ से सम्मानित किया गया
Manmohan Singh Biography, Manmohan Singh Biography – About family, political life, awards won, Prime Minister Dr. Manmohan Singh’s Biography,

tags Manmohan Singh,manmohan singh education,manmohan singh previous offices,manmohan singh in hindi,manmohan singh vs modi,manmohan singh rbi governor,manmohan singh resume,manmohan singh biography,manmohan singh achievements

मनमोहन सिंह की जीवनी | Manmohan Singh Biography In Hindi
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
मनमोहन सिंह शिक्षा
मनमोहन सिंह का जन्म
मनमोहन सिंह की उपलब्धियां
मनमोहन सिंह की जाति
मनमोहन सिंह मराठी
मनमोहन सिंह का कार्यकाल
मनमोहन सिंह पिछले कार्य काल

Check Also

download-231x165 Natasha Dalal Biography in Hindi | नताशा दलाल जीवन परिचय

Natasha Dalal Biography in Hindi | नताशा दलाल जीवन परिचय

Natasha Dalal Biography in Hindi | नताशा दलाल जीवन परिचय जीवन परिचय वास्तविक नाम नताशा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close