तीसरे बूढ़े और उसके खच्चर की कहानी अलिफ लैला Complete Alif Laila Stories In Hindi

Complete-Alif-Laila-Stories-In-Hindi-अलिफ-लैला-की-कहानियाँ_compressed तीसरे बूढ़े और उसके खच्चर की कहानी अलिफ लैला Complete Alif Laila Stories In Hindi

तीसरे बूढ़े और उसके खच्चर की कहानी ~ अलिफ लैला Complete Alif Laila Stories In Hindi ~ अलिफ लैला की कहानियाँ तीसरे बूढ़े ने कहना शुरू किया : ‘हे दैत्य सम्राट, यह खच्चर मेरी पत्नी है। मैं व्यापारी था। एक बार मैं व्यापार के लिए परदेश गया। जब मैं एक वर्ष बाद घर लौटकर आया तो मैंने देखा कि मेरी पत्नी एक हब्शी गुलाम के पास बैठी हास-विलास और प्रेमालाप …

Read More »

मछुवारे की कहानी Complete Alif Laila Stories In Hindi ~ अलिफ लैला की कहानियाँ

Complete-Alif-Laila-Stories-In-Hindi-अलिफ-लैला-की-कहानियाँ_compressed मछुवारे की कहानी Complete Alif Laila Stories In Hindi ~ अलिफ लैला की कहानियाँ

मछुवारे की कहानी Complete Alif Laila Stories In Hindi ~ अलिफ लैला की कहानियाँ   किस्सा मछुवारे का   शहरजाद ने कहा कि हे स्वामी, एक वृद्ध और धार्मिक प्रवृत्ति का मुसलमान मछुवारा मेहनत करके अपने स्त्री-बच्चों का पेट पालता था। वह नियमित रूप से प्रतिदिन सवेरे ही उठकर नदी के किनारे जाता और चार बार नदी में जाल फेंकता था। एक दिन सवेरे उठकर उसने नदी में जाल डाला। …

Read More »

जलियांवाला बाग हत्याकांड इतिहास विकिपीडिया Short Essay In Hindi on Jallianwala Bagh

facts-about-the-jallianwala-bagh-massacre जलियांवाला बाग हत्याकांड इतिहास विकिपीडिया Short Essay In Hindi on Jallianwala Bagh

जलियांवाला बाग हत्याकांड इतिहास विकिपीडिया Short Essay In Hindi on Jallianwala Bagh   जलियाँवाला बाग Jallianwala Bagh क्या है?  1919 में Jallianwala Bagh में भारी नरसंहार की वजह से भारतीय इतिहास में जलियाँवाला बाग एक प्रसिद्ध नाम और जगह बन गया। ये भारत के पंजाब राज्य के अमृतसर शहर में स्थित एक सार्वजनिक उद्यान है। भारत के पंजाब राज्य में शांतिप्रिय लोगों की याद में एक स्मारक बनाया गया है जो एक महत्वपूर्णं …

Read More »

Short Hindi Inspirational Story For Kids ठण्डी रोटी

image-41289528977 Short Hindi Inspirational Story For Kids ठण्डी रोटी

    Short Hindi Inspirational Story For Kids ठण्डी रोटी ठण्डी रोटी : – एक लड़का था | माँ ने उसका विवाह कर दिया | परन्तु वह कुछ कमाता नहीं था | माँ जब भी उसको रोटी परोसती थी, तब वह कहती कि बेटा, ठण्डी रोटी खा लो | लड़के की समझ में नहीं आया कि माँ ऐसा क्यों कहती है | फिर भी वह चुप रहा | एक दिन …

Read More »

Close