परेश रावल की जीवनी | Paresh Rawal Biography In Hindi

 

फ्रेंड, आज मैं एक ऐसे एक्टर और राजनीतिक व्यक्ति की बात करने जा रहा हूँ, जिनके जीवन में यदि दो supporting teachers नहीं होते तो शायद वे आज एक एक्टर नहीं होते। उन्हें ऐसे teacher मिले, जो उन्हें Study की टेंसन से दूर रख लगातार अपना सपना पूरा करने के लिए प्रोत्साहित करते थे। यहाँ तक उनके शाम का डिनर उनका teacher बनाकर रखते थे, ताकि वे पूरी लगन से अपनी रिहर्सल कर सके। वो और कोई नहीं, बल्कि हेरा फेरी फिल्म का Babu Rao Ganpat Rao Apte यानि Paresh Rawal है। जिन्होंने अपनी बॉलीवूड की शानदार कैरियर में Comedy King और Super Villain के रोल में खूब popularity पायी। अब आप इस Hindi Biography द्वारा Paresh Rawal की sucessकी पीछे की कहानी को जानेंगे….

परेश रावल की  जीवनी | Paresh Rawal Biography In Hindi

paresh-rawal-biography-hindi

Paresh Rawal Hindi Biography (Wiki)

Childhood & Family

परेश रावल का जन्म मुंबई में एक मिडल क्लास गुजराती परिवार में हुआ था। उनका बचपन mumbai में गुजरा और प्रारम्भिक शिक्षा Lion’s Juhu School से हुई।

Paresh Rawal बच्चपन में बेहद शरारती और मजाकियाँ किस्म के बच्चे थे। इस बारें Paresh Rawal खुद कहते है,

मैं एक बहुत ही शरारती बच्चा था। क्लास मेँ अपने दोस्तों को हँसाना मुझे बेहद पसंद था। मैं पूरे टाइम मस्ती किया करता था। जिस कारण लोग मेरी संगति को पसंद करते थे और हम सब दोस्त मिलकर पैसा इकट्ठा कर स्कूल पिकनिक पर जाते थे।

छोटी सी उम्र से mimicry करते-करते यह उनकी आदत बन गई और यह आदत उनकी तीव्र इच्छा बन गई।

 

Paresh Rawal Education & Acting Training

Paresh Rawal  कहते है, जब मैं 11 या 12 साल का था, तब मुझे महसूस हुआ कि मुझे एक्टिंग करना चाहिए।

उनकी इस इच्छा को उनके स्कूल की प्रिंसिपल, इंदुबेन पटेल अच्छी तरह से जानती थी, सो उन्होंने छोटे परेश को हमेशा सपोर्ट की।परेश बताते है, मैं बहुत lucky था कि मुझे इन्दुबेन पटेल जैसी pricipal मिली थी। वो मुझे हमेशा कहती कि पढ़ाई की चिंता ना करो, जायों अपनी acting निखारों।

इस तरह acting सीखने के साथ उस स्कूल से उनकी प्रारम्भिक शिक्षा पूर्ण हुई।

College में अपनी पढ़ाई को जारी रखते हुए, वे नर्सी मोंजी कॉलेज ऑफ कॉमर्स और इकोनॉमिक्स में मैनेजमेंट की पढ़ाई करने लगे। अब वे इंटर कॉलेज ड्रामा competition में भी भाग लेने लगे थे।

luck उनके साथ था, क्योंकि एक बार फिर किसी गुरु ने उन्हें अपना सपना पूरा करने के लिए पूर्ण सहयोग दिया। परेश जिक्र करते है, NM College आने के बाद इंटरकॉलेज ड्रामा कंपीटीशन में एक्टिव था। मैं एनएम कॉलेज के प्रिन्सिपल, यू आर कोहली को धन्यवाद देता हूँ। वे एक प्रेरणादायी व्यक्ति थे। वे कहते थे कि परेश बेफिक्र तुम अपने रिहर्सल के लिए जाओ, अपनी क्लास स्टडी की चिंता मत करो।

परेश आगे कहते है, जब मैं रिहर्सल के बाद देर रात कॉलेज पहुंचता तो, कोहली सर की पत्नी हमारे लिए डिनर बनाकर तैयार रखती थी।

इस तरह परेश ने अपने प्रिन्सिपल के सहयोग से नाटक मंचन के साथ कॉलेज की पढ़ाई पूरी की।

 

Paresh Rawal Indian National Theatre

इसके बाद 1973 में वे अपनी ड्रामा के गुणों को निखारने के लिए इंडियन नेशनल थिएटर को जॉइन की। अबतक एक सफल थिएटर एक्टर बनना उनका एक सपना था, पर जब उन्होंने नसीर, ओम पूरी और अमिताभ बच्चन को फिल्मों देखा तो, उनकी भी फिल्मों काम मेँ करने की इच्छा जाग गई।

Struggle

1978-80 के दौरान वे बॉलीवूड मेँ एंट्री पाने के लिए स्ट्रगल करने लगे। उन्होंने सबसे पहले अपनी किस्तमत आर्ट सर्किट में आजमाया। पर सफल नहीं हो सके।

इसके बाद वे श्याम बेनेगल, गोविंद निहलानी और कुमार सहलानी जैसे हस्तियों के साथ कई मिटिंगस की, पर रिज़ल्ट कुछ भी नहीं निकला।

अंत में निराश होकर परेश ने वापस पृथ्वी थिएटर को जॉइन कर लिया। पर जल्द ही उनके द्वारा बॉलीवूड में एक एंट्री पाने के लिए किए गए प्रयासों का इनाम मिला, जब प्रोड्यूसर करीम मोरानी ने पृथ्वी थिएटर में उनके शो को देखे, तो वे बड़े इम्प्रेस हुए। उन्होंने जल्द ही “जो बोले सो निहाल “ फिल्म के डाइरेक्टर राहुल रवैल को परेश रावल का नाम सुझाया।

राहुल रवैल ने पहले उन्हें गुजराती प्ले के लिए काम पर रखा। यह Gujrati Natak हिट हुई। परेश भी एक बॉलीवूड डाइरेक्टर के साथ काम करके अपनी बढ़ी हुई सेल्फ कोन्फ़िडेंस को फिल कर रहे थे।

Bollywood Debut

गुजराती प्ले हिट होते ही पूरी फिल्म नगरी में उनका चर्चा होने लगा, इसी समय “मांझी: द माउंटेन मेन” फिल्म के डाइरेक्टर केतन मेहता, जो खुद गुजरात से है और परेश रावल के थिएटर अवतार से काफी प्रभावित थे, आमिर खान, ओम पूरी और नसीरुद्दीन शाह के साथ होली फिल्म बना रहे थे। उस वक्त उन्हें सपोर्टिंग रोल के लिए एक एक्टर की जरूरत थी, तो वे बिना समय बिताए, इस रोल के लिए परेश को कास्ट कर लिया।

आखिरकार Paresh Rawal की उम्दा थिएटर स्किल ने उन्हें 1984 में अपनी मंजिल दिला ही दी। फिल्म ठीक ठाक रही। पर उन्हें असली सफलता 1986 में बनी सुपरहिट फिल्म नाम से मिली, जिसने उनकी एक टेलेंटिड एक्टर के रूप में पहचान बना दी।

इस बड़ी सफलता ने 1980-90 के दौरान Paresh Rawal के लिए एक नहीं, दो नहीं, तीन नहीं, बल्कि 100 फिल्मों की जबर्दस्त लाइन लगा दी। Oh My God 100 फिल्में….. कैसे मैनेज किए होंगे ? इन फिल्मों में उन्होंने सभी तरह की रोल्स किया। पर कब्जा, किंग अंकल राम लखन, दौड़, बाजी में विलेन और अंदाज अपना अपना में कॉमेडी का रोल सबसे ज्यादा प्रभावी रहा।

2000 तक डाइरेक्टरों और दर्शकों के बीच उनकी पहचान एक केरेक्टर एक्टर के रूप में थी।  पर 2000 में बनी फिल्म हेरा फेरी में उन्हें लीड रोल मिला। इसमें अक्षय कुमार और सुनील शेट्टी एक पेइंग गेस्ट थे। Paresh Rawal की बाबू राव गणपत राव आपटे का रोल इतना फेमस हुआ कि फिल्म तो हिट हुई और उसके साथ उन्हें उस साल का Filmfare Best Comedian Award भी दिला गया।

इसके बाद उन्होंने 2002 में आंखे, आवारा पागल दीवाना, हलचल, गरम मशाला, हंगामा, दीवाने हुए पागल Movies की, जिसमें आंखे उनकी टॉप लिस्ट की फिल्म साबित हुई।

हेरा फेरी फिल्म की बड़ी सफलता के बाद 2006 में इस फिल्म का सिक़्वल, फिर हेरा फेरी फिल्म बनाया गया। दुबारा उन्हें इस फिल्म में बाबू राव गणपत राव आपटे की गुदगुदाती और हँसाती रोल करने का मौका मिला और उन्होंने अपनी पुरानी परफ़ोर्मेंस को जारी रखा। फिल्म सुपर-ड्यूपर हिट हुई।

इसके इनाम में उनके लिए Comedy Movies के ऑफरों की झड़ी लग गई। इन ऑफरों में उनकी फिल्में रही, मालामाल वीकली, गोलमाल:फन अनलिमिटेड, भूल भुलैया, वैल्कम, भागम भाग, मेरे बाप पहले आप और दे दना दन। इस दौरान उन्होंने तेलुगू कॉमेडी फिल्म शंकर दास एमबीबीएस से तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री में डेब्यु भी किया और ड्रामा जोनर की फिल्में चुप चुप के और आक्रोश भी किया।

Producing Debut

2012 में उन्होंने अपने पुराने साथी अक्षय कुमार के साथ OMG-Oh My God! फिल्म किया। इसके साथ उन्होंने इस फिल्म को प्रोड्यूस कर बॉलीवुड में शानदार प्रोड्यूसिंग डेब्यु की। हिन्दू धर्म के ढोंगी साधू समाज पर बनी यह फिल्म हिट रही।

इसके अलावा Paresh Rawal ज़ी टीवी की तीन बहुरानियाँ, सहारा वन की मैं ऐसी क्यूँ हूँ और कलर्स की लागी तुझसे लगन जैसे सीरियलों की प्रोड्यूसिंग कर चुके है।

2014 में उनकी फिल्में राजा नटवरलाल, द शौकिंस और वैल्कम की सिक़्वल वेलकम बेक रही।

Upcoming Movie

फिलहाल में वे Narendra Modi Biopic Movie पर काम कर रहे, जिसे वे जल्द ही प्रोड्यूस करने वाले है।

Political Debut

2014 में Paresh Rawal भारतीय जनता पार्टी में शामिल होकर अपनी राजनीतिक कैरियर में डेब्यु किया। उसी साल लोकसभा के हुए चुनाव में अहमदाबाद पूर्व सीट से जीतने में कामयाब रहे।

Personal Life

परेश रावल की पहली मुलाक़ात स्वरूप सम्पत से इंटर-कॉलेज ड्रामा के दौरान हुआ था। जब से दोनों को एक-दूसरे पहली नजर में प्यार हो गया था। पर इसका इजहार 1977-78 को कर पाये।

इस बारे में परेश थोड़ा चुटकी लेते हुए कहते है,

मैं मिडल क्लास गुजराती फॅमिली में पला बढ़ा हुआ था, जिसे एक अमीर घराने की कैथरल एजुकेटिड Femina Miss India से प्यार हो गया था।

Paresh Rawal की पत्नी 1979 में Miss India रह चुकी है और Miss Universe में भारत को प्रेजेंट भी कर चुकी है।

बरहाल उनके प्यार में काफी अण्डरस्टैंडिंग थी। जिसकी बखान वे खुद करते है,

स्ट्रगल के दिनों मैं स्वरूप से आर्थिक मदद लिया करता था, क्योंकि हमारे बीच कोई ईगो प्रोब्लेम ना था।

बाद मैं उन्होंने अपनी गर्लफ्रेड को जीवन संगिनी बना लिया।

परेश रावल के दो बेटे भी है। बड़ा बेटा अनिरुद्ध रावल, जो फिलहाल में सुल्तान के लिए Assistance Director के रूप में काम कर चुके है। छोटा बेटा अदित्या रावल अमेरिका में पढ़ाई कर रहे है।

Read Also : क्या आप विराट कोहली की नयी गर्लफ्रेंड को जानते है ?

Paresh Rawal Quick Fact

Date of Birth– May 30, 1950

Age – 66 Years (2016)

Birth Place – Mumbai

Wife – Swaroop Sampat

Sons – Aniruddh Rawal and Aditya Rawal

Awards

Padma Shri Award

National Film Award

Filmfare Awards

Star Screen Awards

IFA Awards

Zee Cine – Awards

Apsara Awards

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here