Home / Biography / सुन्दर पिचई की जीवनी, Sunar Pichai Biography In Hindi

सुन्दर पिचई की जीवनी, Sunar Pichai Biography In Hindi

Google, Twitter और Microsoft जैसे बड़ी Companies का चहेता बनना, हर किसी के लिए possible नहीं है। लेकिन बिना car, t.v. और एक कमरे वाले घर में रहने वाला इंसान ने अपनी अदम्य एकाग्रता और confidence से यह सब कर दिखाया है। वो और कोई नहीं Google के CEO Sundar Pichai है। जिनका Real full Name Pichai Sundararajan है।

अब जानते है Sundar Pichai  को विस्तार से —

wp-1484880176893 सुन्दर पिचई की जीवनी, Sunar Pichai Biography In Hindi
गूगल सीईओ सुन्दर पिचई ने बताई एक प्रेरक कहानी – Motivational Story In Hindi By Sundar Pichai

सुन्दर पिचई की जीवनी, Sunar Pichai Biography In Hindi

 

 

Pichai Sundararajan, also known as Sundar Pichai, is an Indian American business executive. Pichai is the chief executive officer of Google Inc

Sundar Pichai quick facts:

Born: 12 July 1972 (age 44 years), Chennai
Spouse: Anjali Pichai
Employer: Google
Education: Wharton School of the University of Pennsylvania (2002)
Parents: Lakshmi Pichai, Regunatha Pichai
Nationality: American, Indian

Sundar Pichai का Childhood & Family

वर्ष 1972 में चेन्नई में जन्में सुंदर के Father रधुनाथ पिचाई British Company में Engineer थे। वे सब एक कमरे वाले घर में रहते थे। Sunar Pichai उसी कमरे में पढ़ाई करते थे। उनकी Mother Stenographer थी। पर Sunar Pichai के जन्म बाद उन्होंने यह काम छोड़ दी। उनका एक छोटा brother भी है।

उनके परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक ना थी, लेकिन उनके पिता ने बचपन में ही उनके मन में Technology की बीज बो दिए।

उनको बचपन में cricket खेलना काफी पसंद था। उन्होंने High School Cricket Team में कप्तानी करते हुए तमिलनाडु राज्य का Regional Tournament भी जीता।

 

Sundar Pichai का Educational Life

वे बचपन से ही एक intelligent Student थे, इसलिए सन 1989 में उन्होंने 17 साल की उम्र में IIT की परीक्षा पास कर IIT Khadgpur में Admission ले लिये।

हाल के Interview से पता चला है कि उनका याददाश्त इतना गज़ब का है कि जब लोग उनसे 1984 के भूले हुए Telephone Number पूछते हैं तो वो आज भी बता देते हैं।

इसे चरितार्थ करते हुए IIT, Khadagpur से Engineering Study के दौरान वे हमेशा Batch Topper रहें। उन्होंने 1993 में इंजीनियरिंग की Final Exam में Top करने के साथ Silver Medal जीता। IIT में Sundar को पढ़ा चुके Professor सनत कुमार राय कहते है,

Metallurgical Science की पढ़ाई के दौरान भी सुंदर Electronics Field में विभिन्न विषयों पर काम कर रहे थे। वह भी उस दौर में जब IIT के Curriculum में इलेक्ट्रॉनिक्स था ही नहीं

उसके बाद Scholarship पाकर वे Material Science और Semiconductor Physics की पढ़ाई के लिए Stanford University चले गए, जहां M.Sc Master of Science पूरा किया।

फिर उन्होंने PhD करने की सोची, पर इसे बीच में ही छोड़। Silicon Valley में Applied Materials को इंजीनियर और Product Manager के रूप में join की।

फिर वे सन 2002 में MBA पूरा करने के लिए Pennsylvania University चले गए, जहां उन्हें Siebel Scholar (फौलादी विद्वान) और Palmer Scholar (बाजीगर विद्वान) कहा जाता था।

Sundar Pichai का Professional Career

MBA पूरा होने के बाद उन्हें McKinsey & Company में प्रबंध सलाहकार के रूप में नियुक किया गया। इस कंपनी में कुछ समय तक रहने के बाद सन 2004 में Sunar Pichai ने Google को ज्वाइन किया।

प्रारंभ में वह Google के Search Toolbar पर काम करने वाली छोटी टीम का एक हिस्सा थे। यह टूल बार Internet Explorer और Firefox के यूजर को गूगल सर्च को Access करने की अनुमति देता था। इसके अलावा सुंदर ने गूगल के दूसरे प्रोडक्ट जैसे Google Gear, Google Pack etc. पर भी काम किया।

 

Google Chrome का Idea बना Success की पहली सीढ़ी

google की सर्च टूलबार की सफलता ने पिचाई को आइडिया दिया कि गूगल का खुद का एक ब्राउज़र होना चाहिए। उन्होंने इस Idea पर discus अपने seniors के साथ की। पर उन्हें उस वक्त Google के सीईओ Erik Schmidt का Objection मिला। उनका मत था कि browser बनाना एक बहुत ही महंगा कार्य है। फिर भी वे अपने आइडिया पर डटे रहे और आखिरकार google के सह फाउंडर Larry Page और Sergey Brin को गूगल की अपनी browser के लॉंच के लिए मना लिया। इसके बाद सुंदर ने Chrome Browser के निर्माण में मुख्य रोल निभाया और इसे 2008 में लॉंच भी किया। आज क्रोम ब्राउज़र ने सुंदर की उस आइडिया को google के लिए सही साबित कर दिया क्योंकि chrome browsers  में नंबर 1 है।

इस सफलता ने Sunar Pichai को प्रोडक्ट डेव्लपमेंट के Vice President का पद इनाम के रूप में दिया। फिर वे लगातार सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ते गए और 2012 में उन्हें chrome और apps का Senior Vice President बनाया गया।

2013 में Andy Rubin जो Creator of Android थे, उन्हें google के रोबोटिक प्रोजेक्ट पर लगाया गया। फिर लेरी पेज ने Sunar Pichai को एण्ड्रोइड का कार्यभार दिया। फिर वे अपने प्रगति मार्ग पर बढ़ते रहे।

सन 2014 में उन्हें product chief बनाया गया।

Sunar Pichai गूगल के उन लोगों में शामिल हो चुके थे, जिन्हें उभरते बाजार में google को ले जाना और चलाने का अनुभव हासिल है। इस मामले में वो दूसरे Executive से भी अलग हैं। उन्होंने ही india में Anroid One को लांच किया था।

Youtube को offline feature पर चलाने, Google Map, Google Now, गूगल सर्च और Voice Search जैसे प्रोडक्टस को चलाने में भी Sunar Pichai का बहुत बड़ा हाथ है और इनकी Future Market Growth की समझ को लेरी पेज (founder of google)से भी बेहतर माना जाता है।

 

Google, Twitter और Microsoft में एक indian के लिए Competition

और सबसे बड़ी बात Sunar Pichai पर नजर Twitter और Microsoft का भी था। और google पिचई जैसे बेहतरीन Executive को खोना नहीं चाहता था। इसलिए August 2015 में google ने Twitter और Microsoft से अधिक पैसों का पैकेज देकर google का पहला Indian CEO बनाया।

चाहे Sunar Pichai  ने सफलता की कितनी भी ऊंचाइयों को छु लिये हो, लेकिन आज भी उनका दिल भारत में ही बसता है। जब भी उन्हें google के काम से फुर्सत मिलता है अधिकांशत: इंटरवल में वे Skype से IIT khadgpur के Students से कनैक्ट हो कर कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर discusऔर Speech भी देते हैं।

Sundar Pichai का Personal Life & Family

Sunar Pichai के पास काफी कम ही फुर्सत के वक्त होते हैं। पर जो भी होता है उसमें वो अपनी Family के साथ बिताना पसंद करते है। उनकी Wife अंजली पिचाई हैं, जो Sunar Pichai के साथ IIT में Classmate थी और उनके दो बच्चे है। जिनमें एक Daughter, Kavyaऔर एक Son, kiran है।

 

Check Also

download-231x165 Natasha Dalal Biography in Hindi | नताशा दलाल जीवन परिचय

Natasha Dalal Biography in Hindi | नताशा दलाल जीवन परिचय

Natasha Dalal Biography in Hindi | नताशा दलाल जीवन परिचय जीवन परिचय वास्तविक नाम नताशा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close