टी वी सुन्दरम अयंगर की जीवनी – T. V. Sundaram Iyengar Biography in Hindi

टी वी सुन्दरम अयंगर की जीवनी – T. V. Sundaram Iyengar Biography 

 

T. V. Sundaram Iyengar जन्म: 22 मार्च 1877, थिरुक्कुरुन्गुदी, मद्रास प्रेसीडेंसी

व्यवसाय/कार्य/पद: उद्योगपति, टीवीएस ग्रुप की आधारशिला रखी

जीवनी-T.-V.-Sundaram-Iyengar-Biography
टी वी सुन्दरम अयंगर की जीवनी – T. V. Sundaram Iyengar Biography in Hindi

T. V. Sundaram Iyengar एक भारतीय उद्योगपति और ऑटोमोबाइल क्षेत्र के अग्रणी उद्यमी थे। 1930 के दशक में जब मोटर की सवारी करना एक दुर्लभ सपना था उन्होंने मदुरै के ग्रामीण क्षेत्र में बस सेवा शुरू की। उन्होंने वर्ष 1911 में  ‘टी वी सुन्दरम अयंगर एंड संस’ नामक एक बस कंपनी की स्थापना की जो आगे चलकर ऑटोमोबाइल निर्माण के क्षेत्र में विकसित हुआ। यह समूह आगे जाकर ‘टीवीएस ग्रुप’ बन गया। आज ‘टीवीएस ग्रुप’ भारत के बड़े व्यापारिक और औद्योगिक घरानों में से एक है।

T. V. Sundaram Iyengar के लिए व्यापार केवल एक जुनून नहीं था, बल्कि आम आदमी के लिए एक सेवा का माध्यम भी। एक सामान्य वकील के तौर पर अपने कैरियर की शुरुआत करने वाले टी वी सुन्दरम अयंगर अपने समय के सफल उद्योगपतियों में से एक थे। अपने क्षेत्र में पहली बस सेवा प्रारम्भ कर उन्होंने मद्रास प्रेसीडेंसी में ‘सड़क परिवहन उद्योग’ की नींव रखी। टीवी सुन्दरम अयंगर एक विचारक और गांधीवादी दर्शन के कड़े अनुयायी भी थे। जिस टीवीएस समूह की स्थापना उन्होंने की थी वो आज मोटर उद्योग से लेकर वित्तीय सेवाएं प्रदान करने वाला एक बड़ा ग्रुप बन गया है।

टी वी सुन्दरम अयंगर की जीवनी – T. V. Sundaram Iyengar Biography in Hindi

प्रारंभिक जीवन

T. V. Sundaram Iyengar का जन्म वर्तमान तमिलनाडु (ब्रिटिश इंडिया का मद्रास प्रेसीडेंसी) के थिरुनेल्वेली जिले में थिरुक्कुरुन्गुदी में सन 1877 में हुआ था। अपने पिता के इच्छानुसार उन्होंने अपने कैरियर का प्रारंभ एक वकील के तौर पर किया और बाद में भारतीय रेलवे और उसके बाद एक बैंक में काम करने लग गए। इसके पश्चात नौकरी छोड़कर उन्होंने अपना व्यवसाय प्रारंभ कर दिया।

कैरियर

T. V. Sundaram Iyengar के दिल में व्यवसाय के लिए एक जुनून था जिसके कारण उन्होंने नौकरी छोड़कर सन 1911 में मोटर परिवहन उद्योग में कदम रखा। उन्होंने ‘टी वी सुन्दरम अयंगर एंड संस’ की स्थापना की और मदुरै शहर में बस सेवा प्रारम्भ की। यही कंपनी आगे जाकर ‘टीवीएस ग्रुप’ के रूप में विकसित हुआ। जब द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान मद्रास प्रेसीडेंसी में पेट्रोल की भरी कमी हुई तब उन्होंने मांग आपूर्ति के लिए टीवीएस गैस प्लांट शुरू किया। उन्होंने ‘मद्रास ऑटो सर्विस लिमिटेड’ और ‘सुंदरम मोटर्स लिमिटेड’ के अलावा रबर रिट्रेडिंग का कारखानों भी शुरू किया। 1950 के दशक में ‘मद्रास ऑटो सर्विस लिमिटेड’ जनरल मोटर्स का सबसे बड़ा वितरक बन गया। इस प्रकार एक आदमी के जुनून के रूप में शुरू हुआ व्यापार, एक समृद्ध पारिवारिक कारोबार में विकसित होने लगा।

आज ‘टीवीएस ग्रुप’ का व्यवसाय विभिन्न क्षेत्रों जैसे मोटर वाहन घटक विनिर्माण, मोटर वाहन डीलरशिप, इलेक्ट्रॉनिक्स घटक और वित्तीय सेवाओं का प्रदाता है और 40000 से ज्यादा लोगों को रोजगार प्रदान करता है। ग्रुप का कारोबार आईटी सेवाओं और कंसल्टेंसी के क्षेत्र में भी फैला है। टीवीएस ग्रुप का टर्नओवर लगभग 100 करोड़ अमेरिकी डॉलर है।

एक उद्योगपति के अलावा, T. V. Sundaram Iyengar कला के संरक्षक और विचारक भी थे। वे एक गांधीवादी थे और गांधीजी ही के कहने पर अपनी किशोर विधवा बेटी (टी एस सौन्दरम) का पुनर्विवाह कराया। टी एस सौन्दरम आगे जाकर राष्ट्रीय आन्दोलन में शामिल हुईं। उनके सम्मान में भारत सरकार ने एक पोस्टेज स्टैम्प जारी किया।

उस समय के एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता और भारत के गवर्नर जनरल, सी राजगोपालचारी (राजाजी) ने सुन्दरम अयंगर की इस बात के लिए भूरि-भूरि प्रशंसा की कि उन्होंने ठीक समय पर कोरोबार से अवकास लेकर उसका बागडोर अपने बेटों के हाथों में सौंप दिया।

T. V. Sundaram Iyengar निजी जीवन

T. V. Sundaram Iyengar  के पांच पुत्र और तीन पुत्रियाँ थीं। पुरुष-प्रधान तमिल ब्राह्मण परिवार के रीतियों के अनुसार उनके परिवार के सभी पुरुष सदस्य पारिवारिक व्यवसाय में शामिल हो गए। T. V. Sundaram Iyengar के एक पुत्र के असमय मृत्यु के बाद उनके चारों बेटे व्यवसाय का अभिन्न अंग बन गए। उनके सबसे छोटे बेटे टीएस संथानम, ‘सुंदरम फाइनेंस’ के संस्थापक हैं और उन्हें भारत में ‘ट्रक वित्त उद्योग के जनक’ के रूप में माना जाता है।

T. V. Sundaram Iyengar का निधन कोडाईकनाल स्थित अपने निवास में 28 अप्रैल, 1955 को निधन हो गया। मृत्यु के समय उनकी उम्र 78 साल थी।

T. V. Sundaram Iyengar योगदान
टी वी सुंदरम ने दक्षिण भारत में मोटर परिवहन उद्योग की नींव रखी। उन्हें मदुरै की पहली बस सेवा शुरू करने का श्रेय दिया जाता है। जब द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान लोगों को पेट्रोल की कमी का सामना करना पड़ा तब उन्होंने  टीवीएस गैस प्लांट शुरू कर इस समस्या का समाधान किया। टीवीएस समूह के अंतर्गत आने वाले कंपनियों में से कुछ इस प्रकार हैं:

T. V. Sundaram Iyengar टाइमलाइन (जीवन घटनाक्रम)

1877: T. V. Sundaram Iyengar  का जन्म मद्रास प्रेसीडेंसी के तिरुनेलवेली में हुआ

1911: टीवी सुन्दरम अयंगर और संस समूह की स्थापना की

1955: T. V. Sundaram Iyengar का निधन 78 साल की उम्र में कोडाईकनाल में उनके आवास पर हो गया

Did you like this post on “

टी वी सुन्दरम अयंगर की जीवनी – T. V. Sundaram Iyengar Biography in Hindi

” Please share your comments.

Like US on Facebook

यदि आपके पास Hindi में कोई articles,motivational story, business idea,Shayari,anmol vachan,hindi biography या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है:[email protected].पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे.

Read Also Hindi Biorgaphy Collection

Read Also Hindi Quotes collection

Read Also Hindi Shayaris Collection

Read Also Hindi Stories Collection

Read Also Whatsapp Status Collection In Hindi 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here