Top 10 Hindi Quotes By Adi Shankaracharya

0
243

Hindi Quotes By Adi Shankaracharya Anmol Vachan


Jis Prkaar Ek Jalte Deepak Ko Chamkne Ke Liye
Dusre Deepak Ki Jarurat Nahi Hoti
Usi Prkaar Aatma Jo Swaym Gyan Suproop Hai
Use Aur Kisi Gyan Ki Jarurat Nahi Hoti
Apne Swaym Ke Gyan Ke Liye – Adi Shankaracharya

Best Quotes on Maan in Hindi by Swami Shankaracharya

Sabse Uttam Teerth Apna Maan Hai,
Jo Vishesh Roop Se Suddh Kiya Hua Ho. –Swami Shankaracharya

download Top 10 Hindi Quotes By Adi Shankaracharya
Top 10 Hindi Quotes By Adi Shankaracharya
Hindi Quotes By Adi Shankaracharya Anmol Vachan

 

Adi Shankaracharya Quotes in Hindi Images

Aatma Agyan Ke Karan He Simit Pratit Hoti Hai,
Parantu Jab Agyan Mit Jata Hai, Tab Atma Ke
Vastvik Suvroop Ka Gyan Ho Jata Hai,
Jaise Badlon Ke Hat Jane Par Suriya Dikhai Deta Hai – Adi Shankaracharya

Adi Shankaracharya Hindi Quotes Anmol Vachan Images


Yah Moh Se Bhara Sansaar Ek Sapne Ki He Tarah Hai
Yahan Tab Tak He Satya Prateet Hota Hai
Jab Tak Viyakti Agyani Rupi Nindra Main So Raha Hota Hai
Parantu Jaag Jane Par Iski Koi Satta Nahi Rahti – Adi Shankaracharya

Adi Shankaracharya Sayings Quotes Anmol Vachan Hindi

Viyakti Ko Sada Yah Samjhna Chahiye Ki

Aatma Ek Raja Ki Tarah Hai Jo Sarir, Endiriyon
Maan, Buddhi Aur Bhi Jo Prakrti Se Bana Hai
En Sab Se Bhinn Hai, Aatma In Sab Ko Sakshi Suprup Hai- Adi Shankaracharya
Adi Shankaracharya Quotes in Hindi (आदि शंकराचार्य के अनमोल विचार)

प्राचीन भारतीय सनातन परम्परा के विकास और हिंदू धर्म के प्रचार व प्रसार में आदि शंकराचार्य का महान योगदान है। उन्होंने भारतीय सनातन परम्परा को पूरे देश में फैलाने के लिए भारत के चारों कोनों में चार शंकराचार्य मठों  श्रृंगेरी मठ, गोवर्द्धन मठ, शारदा मठ और ज्योतिर्मठ की स्थापना की थी। ईसा से पूर्व आठवीं शताब्दी में स्थापित किए गए ये चारों मठ आज भी चार शंकराचार्यों के नेतृत्व में सनातन परम्परा का प्रचार व प्रसार कर रहे हैं। आदि शंकराचार्य ने इन चारों मठों के अलावा पूरे देश में बारह ज्योतिर्लिंगों की भी स्थापना की थी। आदि शंकराचार्य को अद्वैत परम्परा का प्रवर्तक माना जाता है। उनका कहना था कि आत्मा और परमात्मा एक ही हैं। हमें अज्ञानता के कारण ही ये दोनों अलग-अलग प्रतीत होते हैं।

आदि शंकराचार्य के अनमोल विचार

Quote 1 : मंदिर वही पहुंचता है जो धन्यवाद देने जाता हैं, मांगने नहीं।

Quote 2 : मोह से भरा हुआ इंसान एक सपने कि तरह हैं, यह तब तक ही सच लगता है जब तक आप अज्ञान की नींद में सो रहे होते है।  जब नींद खुलती है तो इसकी कोई सत्ता नही रह जाती है।

Quote 3 :  जिस तरह एक प्रज्वलित दिपक कॉ चमकने के लीए दूसरे दीपक की ज़रुरत नहीं होती है।  उसी तरह आत्मा जो खुद ज्ञान स्वरूप है उसे और क़िसी ज्ञान कि आवश्यकता नही होती है, अपने खुद के ज्ञान के लिए।

Quote 4 : तीर्थ करने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं है।  सबसे अच्छा और बड़ा तीर्थ आपका अपना मन है, जिसे विशेष रूप से शुद्ध किया गया हो।

Quote 5 : जब मन में सच जानने की जिज्ञासा पैदा हो जाए तो दुनियावी चीज़े अर्थहीन लगती हैं।

Quote 6 : हर व्यक्ति को यह समझना चाहिए कि आत्मा एक राज़ा की समान होती है जो शरीर, इन्द्रियों, मन, बुद्धि से बिल्कुल अलग होती है। आत्मा इन सबका साक्षी स्वरुप है।

Quote 7 : अज्ञान के कारण आत्मा सीमित लगती है,  लेकिन जब अज्ञान का अंधेरा मिट जाता है, तब आत्मा के वास्तविक स्वरुप का ज्ञान हो जाता है, जैसे बादलों के हट जाने पर सूर्य दिखाई देने लगता है।

Quote 8 : धर्म की किताबे पढ़ने का उस वक़्त तक कोई मतलब नहीं, जब तक आप सच का पता न लगा पाए।  उसी तरह से अगर आप सच जानते है तो धर्मग्रंथ पढ़ने कि कोइ जरूरत नहीं हैं।  सत्य की राह पर चले।

Quote 9 : आनंद तभी मिलता  आनंद कि तालाश नही कर रहे होते है।

Quote 10 : एक सच यह भी है की लोग आपको उसी वक़्त ताक याद करते है जैब ताक सांसें चलती हैं।  सांसों के रुकते ही सबसे क़रीबी रिश्तेदार, दोस्त, यहां तक की पत्नी भी दूर चली जाती है।

Quote 11: आत्मसंयम क्या है ? आंखो को दुनियावी चीज़ों कि ओर आकर्षित न होने देना और बाहरी ताकतों को खुद से दूर रखना।

Quote 12 : सत्य की कोई भाषा नहीं है।  भाषा सिर्फ मनुष्य का निर्माण है। लेकिन सत्य मनुष्य का निर्माण नहीं, आविष्कार है। सत्य को बनाना या प्रमाणित नहिं करना पड़ता, सिर्फ़ उघाड़ना पड़ता है।

Quote 13 : सत्य की परिभाषा क्या है ? सत्य की इतनी ही परिभाषा है की जो सदा था, जो सदा है और जो सदा रहेगा।

तो दोस्तों अब बारी है आपके comments की, ये आर्टिकल आपको कैसा लगा comment के जरिये जरूर बताएं। आपके कमेंट से हमें प्रेरणा मिलती है और अच्छा लिखने की…… धन्यवाद !!!
अगर आपके‌ पास भी कोई हिंदी में लिखा हुआ प्रेरणादायक, प्रेरक, कहानी, कविता,  सुझाव  या ऐसा कोई लेख जिसे पढ़कर पढ़ने वाले को किसी भी प्रकार का मार्गदर्शन या फायदा पहुंचता है और आप उसे Share करना चाहते है तो आप अपनी फोटो और नाम के साथ हमें ईमेल करें। हमारी Email ID है  achhiduniya3@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम व फोटो के साथ अपनी वेबसाईट पर प्रकाशित करेंगें।

Advise- share this post to your friends and you can also use (quotes and pictures)  as  facebook status and whatsapp status

 Follow us for inspiring life changing posts

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here